ऐसे 4 लोगों पर अल्लाह का कहर कभी भी नाजिल हो सकता है, हुज़ूर (स.अ.व.) ने फरमाया जो… – Global Times

Advertisements

विश्व का प्रत्येक धर्म इन्सान को अच्छे काम करने के लिए प्रेरित करता है और सभी धर्म मानव को मानवता का संदेश देते हैं. इ,स्लाम धर्म की शुरुआत अरब से हुई और धीरे-धीरे यह धर्म पूरी दुनिया में फ़ैल गया. आज इस्लाम धर्म के अनुयायी विश्व के प्रत्येक कोने में बसे हुए हैं. इ,स्लाम धर्म के आखिरी प्रवर्तक हु,जूर मो साहब को माना जाता है.

आपको बता दें अंतिम पै,गम्बर को ईश्वर ने पूरी दुनिया के लिए पै,गम्बर बना कर भेजा. मुहम्मद साहब का जन्म 570 ईस्वी में मक्का में हुआ था उस समय अरब में जि,हालत, लू,टपाट चो,री ड,कैती आम बात थी लड़कियों को दिशा ये थी कि अगर किसी के घर में लड़की पैदा हो जाती तो उसको ज़िं,दा ही द,फन कर दिया जाता. लगभग 613 इस्वी के आसपास पै,गम्बर मुहम्मद साहब ने लोगों को अपने ज्ञान का उपदेशा देना आरंभ किया.

Advertisements

Be the first to comment

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.